इस नवंबर से बंद हो जायेंगे 7 करोड़ लोगों के मोबाइल नंबर, जानिए क्यों

Sponsored Links

मोबाइल फोन आज की युवा पीढ़ी एकमात्र अहम कमजोरी बन चुके हैं. ऐसे में क्या आपने कभी सोचा है कि यदि बीच रास्ते में आपका मोबाइल फोन आपके काम का ना रहे? दरअसल, आज हम आपको एक ऐसी खबर बताने जा रहे हैं, जिसे पढ़ कर आप सभी दंग रह जायेंगे. हाल ही में मिली जानकारी के अनुसार बहुत जल्द भारत के लगभग 7 करोड़ लोगों के मोबाइल नेटवर्क जाने वाले हैं. हालाँकि आपको यह पढने में थोडा अजीब लग रहा होगा लेकिन यह बिलकुल सच है. चलिए जानते हैं आखिर इस पूरी खबर के पीछे का रहस्य क्या है और इससे हम खुद को कैसे बचा सकते हैं…

मोबाइल कंपनीज के लिए रुल बनाने वाली TRAI (टेलिकॉम रेग्युलेटरी ऑथिरिटी ऑफ इंडिया यानी भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण) ने कुछ मोबाइल नेटवर्क यूजर्स के लिए डेडलाइन ज़ारी कि है. इस मुताबिक भारत के 7 करोड़ यूजर्स को अपना मोबाइल नंबर पोर्ट करवाना पड़ेगा. यदि वह ऐसा नही करवा पाते तो उनका पुराना नंबर माननीय नहीं रह जायेगा. ऐसे में पोर्ट सर्विस के उपयोग से हम अपने नंबर को हमेशा के लिए बंद होने से बचा सकते हैं.

इन लोगो का होगा नंबर बंद

फिलहाल आप सभी लोगो के मन में यह सवाल निश्चित रूप से उठ रहा होगा की आखिर किन लोगों को नंबर बदलने कि आवश्यकता है? तो आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें की कुछ समय पहले ही बंद हुयी कंपनी “ऐर्सल” ने आने सभी यूजर्स को सकते में डाला था. दरअसल रिलायंस जिओ के आने के बाद इस कंपनी का दिवाला निकल गया था जिसके कारण कंपनी पर ताला लगा दिया गया था. ऐसे में ऐर्सल के के 9 करोड़ यूजर्स को अब ट्राई ने पोर्टिंग सर्विस का लाभ उठाने को कहा है.

आधे से ज्यादा लोग अभी भी है अनजान

आपको यह जानकर हैरानी होगी की “ऐर्सल” कपंनी के बंद होने के बाद लगभग दो करोड़ लोगों ने अपने नंबर पोर्ट करवा लिए थे. परन्तु अभी भी 7 करोड़ यूजर्स ऐसे हैं जिन्होंने अपना नंबर पोर्ट नहीं करवाया है. ऐसे में यदि आप 31 अक्टूबर तक अपना वह नंबर पोर्ट नहीं करवा पाते तो आपका नंबर हमेशा के लिए बंद कर दिया जायेगा. Aircel के अतिरिक्त इसमें डिशनेट के ग्राहक भी सम्मिलित हैं.

ऐसे पा सकते हैं युपीसी कोड

यदि आप अपने ऐर्सल नंबर को पोर्ट करवाना चाहते हैं यो अपने फोन से “PORT” लिख कर 1900 पर मेसेज भेज दें. आपको इसके बाद UPC कोड दिया जायेगा जिसे आप पोर्टिंग के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं. हालाँकि यह पहले कंपनी की ऑफिसियल वेबसाइट से भी संभव था परन्तु अब कपंनी ने अपनी वेबसाइट भी बंद कर दी है. तो आप मेसेज के ज़रिये अपने नंबर पर पोर्ट सुविधा का लाभ उठा सकते हैं.

Sponsored Links

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *